जुग में गुरु समान नहीं दाता राजस्थानी भजन लिरिक्स

जुग में गुरु समान नहीं दाता राजस्थानी भजन लिरिक्स

जुग में गुरु समान नहीं दाता, दोहा – गुरु बिणजारा ज्ञान रा, और लाया वस्तु अमोल, सौदागर साँचा मिले, वे सिर साठे तोल।। …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे