जद अजमल जी होता बाजिया तब मालिक थारो भजन कियो

जद अजमल जी होता बाजिया तब मालिक थारो भजन कियो

जद अजमल जी होता बाजिया, तब मालिक थारो भजन कियो, करणी रे काज गोविंद घर आया, आय रणुजे अवतार लियो, एड़ा एड़ा वचन …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे