तेरी भोली सी सूरतिया मेरे मन में गई समाए लिरिक्स

तेरी भोली सी सूरतिया मेरे मन में गई समाए लिरिक्स

तेरी भोली सी सूरतिया, मेरे मन में गई समाए, रे सांवरिया नंद किशोर, रे सांवरिया नंद किशोर।। मोर मुकुट कटि काजनी सोहे, गल वैजन्ती माल, कानन कुंडल नासा मोती, और घुंघराले बाल, तेरे नैना बड़े रसीले, मेरे मन के है …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे