गोरे गोरे गाल तुम्हारे है घुंगराले बाल भजन लिरिक्स

गोरे गोरे गाल तुम्हारे है घुंगराले बाल भजन लिरिक्स

गोरे गोरे गाल तुम्हारे, है घुंगराले बाल, सांवरे क्या कहना, गल वैजन्ती माल चले तू, तिरछी तिरछी चाल, सांवरे क्या कहना।। तर्ज – सर पे टोपी लाल हाथ में। अधरो पे मुरली सोहे, भक्तो के मन को मोहे, रूप तेरा …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे