भोला भांग तुम्हारी मैं घोटत घोटत हारी भजन लिरिक्स

भोला भांग तुम्हारी मैं घोटत घोटत हारी भजन लिरिक्स

भोला भांग तुम्हारी, मैं घोटत घोटत हारी, तर्ज – हाय हाय ये मज़बूरी श्लोक – भोले तो अलमस्त है, पिए धतूरा भंग, गले में सोहे कालिया, जटा में सोहे गंग, गंग भंग दो बहन है, जो रहे उमा के संग, …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे