गिनगिन कर तुझे स्वाँस मिली है भजन लिरिक्स

गिनगिन कर तुझे स्वाँस मिली है भजन लिरिक्स

गिनगिन कर तुझे स्वाँस मिली है, बृथा इन्हे क्यो खोए, करले भजन मन मेरे, दिन रह गए थोड़े।। तर्ज – लिखने वाले ने लिख डाले। जीवन है माटी का ढैला, चार दिनो का है ये मैला, जग मे आया था …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे