घाटे के महा आ गया हो बाबा ध्यान हरि में धर क

घाटे के महा आ गया हो बाबा ध्यान हरि में धर क

घाटे के महा आ गया हो बाबा, ध्यान हरि में धर क, तेरे भवन के भीतर बड़ गया, जगह ली मर पड़ क।। काया में इसा रोग फैल गया, ना करती असर दवाई, सब कुणबे की चाल बिगड़गी, कोनया रही …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे