पहचान सके तो पहचान घट घट में बसे है भगवान

पहचान सके तो पहचान घट घट में बसे है भगवान

पहचान सके तो पहचान, घट घट में बसे है भगवान।। चंदा की चांदनी, सूरज की रोशनी, तारो की झील मिलजन, जिनकी शोभा अगम अपार, घट घट में बसे है भगवान, पेहचान सके तो पेहचान, घट घट में बसे है भगवान।। …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे