घनश्याम तेरी बंसी पागल कर जाती है हिंदी भजन लिरिक्स

घनश्याम तेरी बंसी पागल कर जाती है हिंदी भजन लिरिक्स

घनश्याम तेरी बंसी, पागल कर जाती है, मुस्कान तेरी मोहन, घायल कर जाती है।। सोने की होती तो, क्या करते तुम मोहन, ये बांस की होकर भी, दुनिया को नचाती है, घनश्याम तेरी बन्सी, पागल कर जाती है।। तुम गोरे …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे