गजब कर डारो री या काली काँवर वारे ने भजन लिरिक्स

गजब कर डारो री या काली काँवर वारे ने भजन लिरिक्स

गजब कर डारो री, या काली काँवर वारे ने।  श्लोक वृन्दावन के वृक्ष को, मरम ना जाने कोय, डारि डारि पर पात पात में, श्री राधे श्यामा होय।। गजब कर डारो री, या काली काँवर वारे ने, काली काँवर वारे …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे