अंग अंग में गौ माता के सब देवों का धाम है लिरिक्स

अंग अंग में गौ माता के सब देवों का धाम है लिरिक्स

अंग अंग में गौ माता के, सब देवों का धाम है, गौ माता के श्री चरणों में, बारम्बार प्रणाम है।। तर्ज – भला किसी का कर ना सको। नेत्रों में हैं सूर्य चंद्र, मस्तक में रहते हैं ब्रम्हा, सींगों में …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे