गणपति अपने गाँव चले कैसे हमको चैन पड़े भजन लिरिक्स

गणपति अपने गाँव चले कैसे हमको चैन पड़े भजन लिरिक्स

गणपति अपने गाँव चले, कैसे हमको चैन पड़े।। गणपति बप्पा मोरया, पूढच्या वर्षी लवकर या, मोरया रे, बप्पा मोरया रे, मोरया रे, बप्पा मोरया रे।। गणपति अपने गाँव चले, कैसे हमको चैन पड़े, जिसने जो माँगा उसने वो पाया, रस्ते …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे