हिये काया में बर्तन माटी रा हमको डर लागो एक दिन को

हिये काया में बर्तन माटी रा हमको डर लागो एक दिन को

हिये काया में बर्तन माटी रा, दोहा – कबीरा जब हम पैदा हुए, जग हंसा हम रोय, कुछ करणी ऐसी करें, की हम …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे