हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में भजन लिरिक्स

हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में भजन लिरिक्स

हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में, मिलती है तन्खा, मिलती है तन्खा, मुझे बारस में, हाज़री लिखवाता हूँ हर ग्यारस में।। दो दिन …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे