हस्ती ही ऐसी होती हर श्याम दीवाने की भजन लिरिक्स

हस्ती ही ऐसी होती हर श्याम दीवाने की भजन लिरिक्स

हर वक़्त वजह ना पूछो, मेरे मुस्काने की, हस्ती ही ऐसी होती, हर श्याम दीवाने की।। तर्ज – सावन का महीना। मुस्कान प्यारी …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे