वृन्दावन के कण कण में जहाँ बहती प्रेम की धारा लिरिक्स

वृन्दावन के कण कण में जहाँ बहती प्रेम की धारा लिरिक्स

वृन्दावन के कण कण में जहाँ, बहती प्रेम की धारा, कट जाए तेरी सारी बाधा, जप ले राधा राधा, तू जप ले राधा …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे