जटाधारी बनके त्रिपुरारी बनके चले आना भजन लिरिक्स

जटाधारी बनके त्रिपुरारी बनके चले आना भजन लिरिक्स

जटाधारी बनके त्रिपुरारी बनके, चले आना भोले जी चले आना।। तर्ज – कभी राम बनके। तुम औघड़ रूप में आना, तुम औघड़ रूप …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे