छोड़ चल्यो बिणजारो म्हारी भोली काया लिरिक्स

छोड़ चल्यो बिणजारो म्हारी भोली काया लिरिक्स

छोड़ चल्यो बिणजारो, म्हारी भोली काया। दोहा – मन कहे मैं धन करूं, धन कर करूं जी गुमान, राम कतरणी हाथ में, राखे …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे