लूट के ले गया दिल जिगर सांवरा जादूगर भजन लिरिक्स

लूट के ले गया दिल जिगर सांवरा जादूगर भजन लिरिक्स

लूट के ले गया दिल जिगर,
सांवरा जादूगर,

संवारा मेरा संवारा,
संवारा मेरा सांवरा॥



मैं तो गयी भरने को यमुना पे पानी,
देख छबि नटखट की हुई मैं दीवानी,
उसने मारी जो तिरछी नज़र सांवरा जादूगर।



तान सुनी बांसुरी की सुध बुध मैं खोई,
भूल गयी लोकलाज बस तेरी मैं होई,
छोड़ के तुझ को जाऊं किधर, सांवरा जादूगर



बाँध ली रमण तुझ से आशा की लडियां,
हैं यही तमन्ना शेष जीवन की घडियाँ,
तेरे चरणों में जाए गुजर, सांवरा जादूगर।



लूट के ले गया दिल जिगर,
सांवरा जादूगर,

संवारा मेरा संवारा,
संवारा मेरा सांवरा॥


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें