एक आस तुम्हारी है विश्वास तुम्हारा है संजय मित्तल भजन

एक आस तुम्हारी है, विश्वास तुम्हारा है, अब तेरे सिवा बाबा, कहो कौन हमारा है, एक आस तुम्हारी है, विश्वास तुम्हारा है।। फूलों में महक तुमसे, तारों में चमक तुमसे, मेरे बाबा….., ”इतना बता दो कहा तुम नहीं हो, ये सब को पता है की तुम हर कहीं हो, अगर तुम ना होते तो दुनिया … Continue reading एक आस तुम्हारी है विश्वास तुम्हारा है संजय मित्तल भजन