तुम पास पास रहना तुम साथ साथ रहना भजन लिरिक्स

तुम पास पास रहना तुम साथ साथ रहना भजन लिरिक्स
कृष्ण भजनफिल्मी तर्ज भजनविनोद अग्रवाल भजन

तुम पास पास रहना,
तुम साथ साथ रहना,
राही नया नया हूँ,
राही नया नया हूँ,

हमराही बन कर रहना।।

तर्ज – आये हो मेरी जिंदगी में।



राहे है टेढ़ी मेढ़ी,

गलीया बड़ी अँधेरी,
ना कोई आशिया है,
वीरान दुनिया मेरी,
दिल के करीब रहना,
मन के हबीब रहना,
राही नया नया हूँ,
हम राही बनके रहना,
तूम पास पास रहना,
तुम साथ साथ रहना।।



जीवन के इस सफर में,

भूली हुई डगर में,
काफ़िल न हो मैं जाऊं,
माया के इस नगर में,
तुम यार बनके रहना,
गमख्वार बनके रहना,
राही नया नया हूँ,
हम राही बनके रहना,
तूम पास पास रहना,
तुम साथ साथ रहना।।



जाने बहार तुम हो,

दिल का करार तुम हो,
खमोश जिंदगी के,
साजो का तार तुम हो,
मेरे लबो पे हरदम,
तुम नगमा बनके रहना,
राही नया नया हूँ,
हम राही बनके रहना,
तूम पास पास रहना,
तुम साथ साथ रहना।।



तुम मेरी जिंदगी हो,

तुम मेरी बंदगी हो,
मैं तुम में ही खो जाऊं,
एक तुम में रूह जमी हो,
नित नव मिलन के रोज,
पैगाम देते रहना,
राही नया नया हूँ,
हम राही बनके रहना,
तूम पास पास रहना,
तुम साथ साथ रहना।।



तुम पास पास रहना,

तुम साथ साथ रहना,
राही नया नया हूँ,
राही नया नया हूँ,

हमराही बन कर रहना।।

Singer : Shri Vinod Agrawal Ji


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।