शेरावाली करती बेड़ा पार है भजन लिरिक्स

0
2686
बार देखा गया
शेरावाली करती बेड़ा पार है भजन लिरिक्स

शेरावाली करती बेड़ा पार है,
दोहा – शहनाइयों की सदा कह रही है,
ख़ुशी की मुबारक वो घडी आ गई है,
सजा आज दरबार है मैया तेरा,
ये भक्तो की टोली चली आ रही है।

शेरावाली करती बेड़ा पार है,
सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है,
झुकता चरणों में सारा संसार है,
सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है,
शेरावाली करती बेड़ा पार हैं,
सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है।।

तर्ज – दूल्हे का सेहरा।



नेता अभिनेता भी तुमको,

सजदा करते है,
साहूकार हो या निर्धन,
सब झोली भरते है,
तेरे नाम से पापी मैया,
सारे डरते है,
चरणों में तेरे मैया,
गुणगान करते है,
पापियों का करती माँ उद्धार है,
सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है,
शेरावाली करती बेड़ा पार हैं,
सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है।।



किमस्त का मारा हूँ,

अब ना देर लगाओ माँ,
बिच भंवर में नैया अटकी,
पार लगाओ माँ,
करके सिंघ सवारी,
मुझको दर्श दिखाओ माँ,
बिच भंवर में नैया अटकी,
पार लगाओ माँ,
‘राजा’ कहे भरती सबके भंडार है,
सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है,
शेरावाली करती बेड़ा पार हैं,
सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है।।



शेरावाली करती बेड़ा पार है,

सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है,
झुकता चरणों में सारा संसार है,
सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है,
शेरावाली करती बेड़ा पार हैं,
सबसे बड़ी मेरी मैया की सरकार है।।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम