कभी तो मेरे घर आना मोरी शारदा भवानी भजन लिरिक्स

0
2819
बार देखा गया
कभी तो मेरे घर आना मोरी शारदा भवानी भजन लिरिक्स

कभी तो मेरे घर आना,
मोरी शारदा भवानी,
शारदा भवानी, शारदा भवानी,
कभी तो मेरें घर आना,
मोरी शारदा भवानी।।

तर्ज – एक दिन मेरे घर आना।



मैया के पाँवन में पैंजन बंधाऊँगी,

मैया के पाँवन में पैंजन बंधाऊँगी,
पैंजन बंधाऊँगी, घुंगरू बंधाऊँगी,
छम छम नाच दिखाना,
मोरी शारदा भवानी,
कभी तो मेरें घर आना,
मोरी शारदा भवानी।।



मैया के माथे पे बिंदिया सजाऊंगी,

मैया के माथे पे बिंदिया सजाऊंगी,
हिरा जड़े चमकाना,
मोरी शारदा भवानी,
कभी तो मेरें घर आना,
मोरी शारदा भवानी।।



मैया के द्वारे ‘शिवरंजनी’ है आई,

मैया के द्वारे ‘शिवरंजनी’ है आई,
‘शिवरंजनी’ आई, जगराता गाई,
भक्तो संग ठुमका लगाना,
मोरी शारदा भवानी,
कभी तो मेरें घर आना,
मोरी शारदा भवानी।।



कभी तो मेरे घर आना,

मोरी शारदा भवानी,
शारदा भवानी, शारदा भवानी,
कभी तो मेरें घर आना,
मोरी शारदा भवानी।।

स्वर – शिवरंजनी तिवारी।


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम