जसोल री धनियारी मोटो देवरो सा माजीसा भजन लिरिक्स

जसोल री धनियारी मोटो देवरो सा माजीसा भजन लिरिक्स

जसोल री धनियारी,
मोटो देवरो सा,
थारे देवलिया में,
थारे मंदरया में,
जागी जगमग जोत,
ओ माजीसा मोटो देवरो सा,
जसोल री धनियारी,
मोटो देवरो सा।।



थारे घेर ने घुमारो,

पहरों घाघरो सा,
थारे चमचम चमके2 ,
तारा जड़ी चुंदरी माजीसा,
मोटो देवरो सा,
जसोल री धणियारी,
मोटो देवरो सा।।



थारे हाथा माही,

चुडो हद सोवणो सा,
थारे छम छम बाजे,
पायल री झनकार ओ माजीसा,
मोटो देवरो सा,
जसोल री धणियारी,
मोटो देवरो सा।।



पिंकी गहलोत री सुनजो,

विनती ओ सा,
थारे शरण आया ने सोरा,
राखजो माजीसा,
मोटो देवरो सा,
जसोल री धणियारी,
मोटो देवरो सा।।



स्वर & लिरिक्स – पिंकी गहलोत।

Cont. – 9772021065


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें