अति सुन्दर दो नाम साईं जी के भजन लिरिक्स

0
798
बार देखा गया
अति सुन्दर दो नाम साईं जी के भजन लिरिक्स

अति सुन्दर दो नाम साईं जी के,
अति सुन्दर दो नाम,
ये सुख सागर सुख धाम है,
ये सुख सागर सुख धाम है,
साई राम कहो या श्याम,
साई राम कहो या श्याम।।

तर्ज – रट ले हरी का नाम।



इक तो दिल में प्रेम जगाए,

दूजा सारे कष्ट मिटाए,
ये सबका करे कल्याण रे,
साई राम कहो या श्याम,
साई राम कहो या श्याम।।



है दोनों ये घट घट वासी,

शुभग सुखद आनंद प्रकाशी,
मिटे भजन से कष्ट तमाम,
साई राम कहो या श्याम,
साई राम कहो या श्याम।।



शबरी के झूठे बैर जो खाए,

ब्रज में माखन चोर कहाए,
सदा भक्तो का रखते है ध्यान ये,
साई राम कहो या श्याम,
साई राम कहो या श्याम।।



राम का नाम है मंगलकारी,

कृष्ण कन्हैया भव भयहारी,
सभी प्राणी है इनके गुलाम रे,
साई राम कहो या श्याम,
साई राम कहो या श्याम।।



अजर अमर है ये अविनाशी,

परम मनोहर श्री शुभ राशि,
सदा जपते रहो सुबहो शाम रे,
साई राम कहो या श्याम,
साई राम कहो या श्याम।।



पात्र बने वो ब्रम्हज्ञान का,

भजन करे जो कृष्ण राम का,
मिल जाएगा मुकाम रे,
साई राम कहो या श्याम,
साई राम कहो या श्याम।।



अति सुन्दर दो नाम साईं जी के,

अति सुन्दर दो नाम,
ये सुख सागर सुख धाम है,
ये सुख सागर सुख धाम है,
साई राम कहो या श्याम,
साई राम कहो या श्याम।।

Singer : Sarvesh Kumar


आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम